Best Dosti Shayari

All Shayari Dosti Shayari

Dosti Shayri

Best Dosti Shayari in Hindi if you Like then Like Comment And Share…

Hum To Bus Itna Usul Rakhte Hai
Jab Hum Tujhe Kubul Karte Hai
To Tera Sab Kuch Kubul Karte Hai

हम तो बस इतना उसूल रखते है,
जब हम तुझे कुबूल करते है,
तो तेरा सब कुछ कुबूल करते है।

Wo Achchha Hai To Achchha Hai, Wo Bura Hai To Bhi Achchha Hai,,
Dosti Ke Mijaaz Mein, Yaaron Ke Aib Nahin Dekhe Jaate.

वो अच्छा है तो अच्छा है,वो बुरा है तो भी अच्छा है,
दोस्ती के मिजाज़ में, यारों के ऐब नहीं देखे जाते।

Kuch Log Kehte Hai Dosti Barabar Valo Se Karni Chahiye
Lekin Hum Kehte Hai Dosti me Koi Barabri Nhi Karni Chahiye

कुछ लोग कहते है दोस्ती बराबर वालो से करनी चाहिये,
लेकिन हम कहते है दोस्ती में कोई बराबरी नही करनी चाहिये।

Khushbu Ki Tarh Meri Sanso Me Rehna,
Lahu Banke Meri Nas-Nas Me Behna
Dosti Hoti Hai Rishto Ka Anmol Gehna
Isliye Dosti Ko Kabhi Alvida Na Kehna

खुशबु की तरह मेरी साँसों में रहना;
लहू बनके मेरी नस-नस में बहना;
दोस्ती होती है रिश्तों का अनमोल गहना;
इसलिए दोस्त को कभी अलविदा न कहना।

Zindagi Har Pal Kuchh Khaas Nahi Hoti,
Phoolo Ki Khushboo Hamesha Paas Nahi Hoti,
Milna Humari Takdeer Mein Tha Varna,
Itni Pyari Dosti ittefaaq Nahi Hoti.

ज़िन्दगी हर पल कुछ खास नहीं होती,
फूलों की खुशबू हमेशा पास नहीं होती,
मिलना हमारी तक़दीर में था वरना,
इतनी प्यारी दोस्ती इत्तेफाक नहीं होती।

Best Dosti Shayari

Saare Dost Ek Jaise Nahin Hote,
Kuchh Hamare Hokar Bhi Hamare Nahin Hote,
Aapse Dosti Karne Ke Baad Mahsoos Hua,
Kaun Kahta Hai Taare Zameen Par Nahin Hote.

सारे दोस्त एक जैसे नहीं होते,
कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते,
आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ,
कौन कहता है ‘तारे ज़मीं पर’ नहीं होते।

Aasmaan Se Tod Kar Sitara Diya Hai,
Aalam-e-Tanhai Mein Ek Sharara Diya Hai,
Meri Kismat Bhi Naaz Karti Hai Mujhpe,
Khuda Ne Dost Hi Itna Pyara Diya Hai.

आसमान से तोड़ कर सितारा दिया है,
आलम-ए-तन्हाई में एक शरारा दिया है,
मेरी किस्मत भी नाज़ करती है मुझपे,
खुदा ने दोस्त ही इतना प्यारा दिया है।

Tum Dost Ban Ke Aise Aaye Zindagi Mein,
Ki Hum Yeh Zamana Hi Bhool Gaye,
Tumhein Yaad Aaye Na Aaye Humari Kabhi,
Par Hum To Tumhein Bhulaana Hi Bhool Gaye.

तुम दोस्त बनके ऐसे आए ज़िन्दगी में,
कि हम ये जमाना ही भूल गये,
तुम्हें याद आए न आए हमारी कभी,
पर हम तो तुम्हें भुलाना ही भूल गये।

Haqeekat Mohabbat Ki Judai Hoti Hai,
Kabhi-Kabhi Pyaar Mein Bewafai Hoti Hai,
Hamare Taraf Haath Badhakar To Dekho,
Dosti Mein Kitni Sachchai Hoti Hai.

हक़ीकत मोहब्बत की जुदाई होती है,
कभी-कभी प्यार में बेवफाई होती है,
हमारे तरफ हाथ बढ़ाकर तो देखो,
दोस्ती में कितनी सच्चाई होती है।

Dosti Mein Dost, Dost Ka Khuda Hota Hai,
Mahsoos Tab Hota Hai Jab Wo Juda Hota Hai.

दोस्ती में दोस्त, दोस्त का ख़ुदा होता है,
महसूस तब होता है जब वो जुदा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *